You are here
Kiran Majumdar Shaw | Hindi Inspirational Story Hindi Inspirational Story 

Kiran Majumdar Shaw | Hindi Inspirational Story

Kiran Majumdar Shaw | Hindi Inspirational Story





Kiran Majumdar Shaw  बायोकॉन जैसी विश्व प्रसिद्ध कंपनी स्थापित करके सफलता और दौलत की बुलंदियों को छू चुकि हैं! …………. बचपन में वह डॉक्टर बनना चाहती थी, लेकिन बड़े होने पर उनके मन में एक बायोटेक्नोलॉजी कंपनी शुरू करने का विचार आया ,जो भारत में होने के बाद भी विश्व स्तरीय हो।

Kiran Majumdar Shaw खुद कहती हैं कि अगर उनके पास सपना नहीं होता, तो वह कुछ भी नहीं कर पाती………..क्योंकि इस राह में बहुत सारी मुश्किलें थी। उन्होंने कहा था, “अगर मैं बायोकॉन जैसी कंपनी बना सकती हूं तो कोई भी ऐसा कर सकता है”……. पहला कदम तो यह है कि इसका सपना होना चाहिए चाहे वह छोटा हो या बड़ा अगर आपके पास सपना है, एक योजना है चाहे वह कितनी ही अपूर्ण हो ………….वस जुनून एवं विश्वास है तो, आपकी सफलता तय है।
अपनी उपलब्धियों के बारे में किरण कहती हैं, कि यह काम मुश्किल था। क्योंकि जब उन्होंने यह कंपनी  शुरू की थी, तो लोग बायोटेक्नोलॉजी की सही स्पेलिंग तक नहीं जानते थे। इसके अलावा पैसों की कमी के चलते उन्हें डेढ़ साल तक अपने गैरेज से  ही काम करना पड़ा ।

……….उनके पास इस बिजनेस का कोई प्रशिक्षण या मैनेजमेंट डिग्री नहीं थी।………. राह में बहुत सारी मुश्किलें थी, लेकिन किरण मजूमदार अपने सपने के दम पर आगे बढ़ती गई ।वह अपनी सफलता का श्रेय अपने पिता को देती है ,जिन्होंने उन्हें घर गृहस्थी  के चक्कर में पड़ने के बजाए कैरियर बनाने की सलाह दी थी ।

successful-businesses-in-toronto
Kiran Majumdar Shaw की कंपनी बायोकॉन आज भारत की सबसे बड़ी बायोटेक कंपनी बन चुकि है, लेकिन कंपनी के विस्तार के साथ-साथ उनके सपने का विस्तार हुआ और अब उनका वर्तमान सपना है, कि बायोकॉन का नाम दुनिया की पांच सबसे बड़ी बायोटेक कंपनियों में आ जाए । 

किरण कहती है, मैं हर उद्यमी या बिजनेसमैन से कहूंगी कि यह एक बहुत रोमांचक यात्रा है।…….. बस पहला कदम उठा ले। मैं सोचती हूं, कि यही बिजनेस के क्षेत्र में सबसे जरुरी बात है ।चाहे जितना सोचते और विश्लेषण करते रहें ,उससे आपको कंपनी बनाने में मदद नहीं मिलेगी ।……….महत्वपूर्ण यह हैं कि मन में सोच लें कि “मै कुछ करना चाहता हूं” और अगर आप यह पहचान लें कि आप क्या करना चाहते हैं ……..तो पहला कदम उठा ले। क्योंकि आप यह नहीं जानते हैं कि वह पहला कदम आपको कहां तक ले जाएगा।

. मेरे ही मामले में देखें मैंने पपीते के एक Enzyme से यात्रा शुरू की थी और आज मैं कैंसर की दवाएं बना रही हूं । अगर आप मुझसे पूछें कि यह काम शुरू करते समय क्या मैंने यह सोचा था ,कि मैं इतनी दूर तक जाऊंगी?……….तो मैं कहूंगी कि नहीं। मैंने यह सब नहीं सोचा था जब आप अपनी यात्रा में आगे बढ़ते हैं ,तो आपके सामने कई अद्भुत रास्ते खुल जाते हैं।

images (16)
Kiran Majumdar Shaw की सलाह यह है अगर सपना हो और मेहनत करने का जज्बा हो तो सफलता की यात्रा मुश्किल नहीं होती है।

Also read:

जोखिम और सफलता ।

बस एक IDEA ।

  सपने सभी देखते है । 

  असंभव की रस्सियाँ  ।
दोस्तों यदि आपको यह लेख Kiran Majumdar Shaw | Hindi Inspirational Story  अच्छा लगा हो, तो अपने फ्रेंड्स के साथ इसे अवश्य share करें और www. kyakahengelog.com को subscribe करना ना भूले|




Share This:

Related posts

Leave a Comment

shares