You are here
Goal | लक्ष्य | A Key to Success Hindi Motivational Blog Personal Development 

Goal | लक्ष्य | A Key to Success

Goal |लक्ष्य |A key to Success




दोस्तों हम सब train मे यात्रा करते हैं टिकिट खरीदते  समय टिकिट खिड़की पर बैठा हुआ कर्मचारी हमसे पूछता है जाना कहाँ है ? मतलव आपकी मंजिल क्या है……….इसी तरह जब भी आप किसी से सफलता की बात करते  है तो आपसे पूछा जाता है कि आपका लक्ष्य क्या है ? …………लक्ष्य निर्धारण या Goal Setting सफलता के लिए पहली अवश्यकता है।  

 क्या आपके पास लक्ष्य है ? दोस्तो सफलता के लिए आपका कोई goal अवश्य होना चाहिए , क्योंकि बिना किसी लक्ष्य निर्धारण के उस पर पहुँचना सम्भव नहीं है । जब तक हमारे पास स्पष्ट goals नहीं  होते, हम दिशाहीन होकर भटकते रहते हैं । जीवनभर अपनी छमताओं का उपयोग नहीं कर पाते।

मैं यह मानने को तैयार नहीं हूँ कि असफलता अवसरों की कमी के कारण मिलती हैं । अधिकतर लोग जाने अनजाने  मे लक्ष्य के अभाव मे असफलता के रास्ते पर भटकते रहते हैं ।

इस लेख के माध्यम से हम समझेंगे कि सफलता के लिए लक्ष्य कितने महत्व पूर्ण हैं और बिना लक्ष्य  के  हमारा जीवन समुद्र मे भटकते हुए उस जहाज की  तरह है  जिसे यह पता ही नहीं कि जाना कहाँ है । जीवन मे लक्ष्य नहीं होना मतलव by default आप असफलता के रास्ते पर अग्रसर है  ……………..



यदि लक्ष्य इतने important हैं, तो फिर बहुत से  लोग  अपने लिए Goal Setting क्यों नहीं करते ?

  • या तो उन्होने इस जीवन की भागदौड़ मे कभी इस पर सोचा ही नहीं और भेड़चाल मे चलना ही अपना उद्देश्य समझ लिया है ।
  • हो सकता है उन्हे मालूम ही न हो कि लक्ष्य निर्धारण कैसे करें ।
  • या वे डरते हैं कि यदि निर्धारित लक्ष्य को हाँसिल नहीं कर पाए तो लोग उन पर हसेंगे ।
  • आत्मविश्वास (Self-Confidence) का न होना भी एक बहुत बड़ा कारण है ।

कारण कुछ भी हो बस एक बात याद रखें “गोल नहीं तो खेल नहीं” ……..मतलव सफलता के लिए गोल बहुत ज़रूरी है

लक्ष्य या Goal का महत्व

download (14)

दोस्तों हर खेल मे जीत हार के लिए एक लक्ष्य होता है । सोचिए फुटबाल टीम के खिलाड़ी मैच के पहले ,पूरे जोश ब उत्साह से भरे हुए हैं । उनमे करो या मारो कि भावना है………..सभी जीतने के लिए बेताव हैं शरीर मे बिजली दौड़ रही हैं …….लेकिन ये क्या ? जैसे ही खिलाड़ी मैदान पर पहुचते हैं तो गुस्से से भर जाते हैं । निराश हो जाते है। ……क्योंकि मैदान पर goal  नहीं हैं ।

सभी के दिमाग मे एक ही बात चल रही थी……  कि बिना goal के मैच कैसे खेला जा सकता है ? क्योंकि हार जीत के निर्णय के लिए गोल तो होना जरूरी है ।

दोस्तो कहीं आप बिना गोल के जीवन का खेल खेलने कि कोशिश तो नहीं कर रहे ? यदि हाँ तो आपका score क्या हुआ है ? Friend’s फिर से कहूँगा जीतने के लिए goals का होना बहुत जरूरी है। और मे जानता हूँ कि हर कोई इस दुनिया मे जीतने के लिए आया है ।

goal कैसे हो ?

आइए देखें प्रभावी लक्ष्य बनाने के लिए क्या करें ,किन बातों का ध्यान रखा जाए ।

  • लक्ष्य बड़े होने चाहिए । याद रखें कोई भी अच्छा खिलाड़ी साधारण मुकावले के वजाय कठिन मुकावले मे ज्यादा अच्छा खेलता  है………….. अपने 100% potential का उपयोग कर पाता है । और एक जबरदस्त एहसास होता है कि आज मैंने अपनी और से पूरी कोशिश की । एक बात और जब लक्ष्य बड़ा होगा तो सफलता भी बड़ी होगी ।
  • लक्ष्य हमेशा वास्तविक (Realistic) हो । मैंने पहले कहा कि goal बड़े होने चाहिए , लेकिन इतने बड़े भी नहीं कि उन्हे achieve करना असंभव हो । मतलव realistic हो । लेकिन याद रखें असंभव कुछ भी नहीं , अगर दुनिया मे एक भी इंसान ने उसे achieve किया है तो आप भी कर सकते हैं । वास्तविकता या realistic होने के नाम पर अपने लक्ष्य को छोटा न करें ।
  • लक्ष्य हमेशा long term होने चाहिए । ताकि रास्ते मे छोटी छोटी चुनौतियाँ आने पर आप रुकें नहीं । कभी कभी नकारात्मक लोगों की वजह से हमारा हौंसला पस्त हो सकता है । लेकिन दूरगामी लक्ष्य होने से आपको इस प्रकार की चुनौतियों से निपटने की शक्ति मिलती रहती है । याद रहे आपके लक्ष्य तक पहुचने मे सिर्फ और सिर्फ एक ही इंसान मदद कर सकता है वह आप खुद हैं । यदि कोई और मदद करता है तो वह एक वोनस की तरह है।


  • प्रतिदिन लक्ष्य निर्धारित करें । अपने लक्ष्य को बार्षिक , मासिक , और दैनिक लक्ष्य मे convert करें और छोटे छोटे लक्ष्य बनाकर उन पर योजनाबद्द तरीके से प्रतिदिन काम करें ।

दोस्तों लक्ष्य कोई भी हो काम तो प्रतिदिन करना होगा, एक दिन morning walk से आपके six packs नहीं बनते । उसके लिए प्रतिदिन gym मे पसीना बहाना पड़ता है ।  यहीं आपके  commitment, discipline और dedication की परीक्षा होती हैं ।

58

  • लक्ष्य specific होने चाहिए । जब तक आपके लक्ष्य specific नहीं होते आप उस पर focus नहीं कर पाते। और जब focus नहीं कर पाते तो परिणाम भी नहीं मिलते । मतलब सिर्फ़”मैं सफलता चाहता हूँ“कहने से काम नहीं चलेगा । आपके लिए सफलता क्या है उसे define कीजिये ,कब तक achieve करना चाहते हैं समय सीमा तय कीजिये ,ताकि आप अपनी उपलब्धियों को माप सकें ।
  • विश्वास रखें- कि आप अपने लक्ष्य तक ज़रूर पहुचेंगे । और नकारात्मक लोगों से साबधान रहें ।

दोस्तो लक्ष्य बनाए और जुटे रहें ……………… याद रखें गोल नहीं तो खेल नहीं

Recommended posts…. अवश्य पढ़े ।

  1. आत्मविश्वास । Tips to increase self confidence.
  2. नकारात्मक लोगों से साबधान रहें ।
  3. सिर्फ़ सोचने से काम नहीं चलेगा ।
  4. सफलता का बीज़।
  5. सफलता का आसान तरीक़ा ।
  6. Focus क्यों जरूरी है ?
  7. Mind power | A search engine
  8. Strong Burning Desire |
  9. kyakahengelog,com और आप । 
  10. सबसे बड़ा रोग  क्या कहेंगे लोग !
  11. Life Changing Motivational Books in Hindi
 

मुझे पूरा विश्वास है यह लेख आपको पसंद आयेगा , अपने दोस्तों से इसको share अवश्य करें । www.kyakahengelog.com  के वारे में आपके feedback उत्साहित करने वाले हैं । मेरा विश्वास है KKL आपके सफलता के सफर मे एक सच्चा हमसफर साबित होगा । इसे subscribe करना न भूलें ।

Share This:

Related posts

Leave a Comment

shares